twitter

पर्थ. डाउन अंडर टूर पर टीम इंडिया इस समय भले ही डाउन चल रही हो, लेकिन साल 2008 में अनिल कुंबले की अगुवाई में इस टीम ने अपने बेहतरीन प्रदर्शन से एक कंगारू को करियर तबाह कर दिया था। वो ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी आज भी उस पल को याद कर सहम जाता है।

ऑस्ट्रेलियाई के शॉन टेट के जहन में 2008 का पर्थ टेस्ट आज भी ताजा है। इस टेस्ट में सचिन तेंडुलकर, राहुल द्रविड़, वीवीएस लक्ष्मण और इरफान पठान ने मिलकर मेजबान गेंदबाजों की जमकर धुनाई की थी। 

उस मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने भारतीय बल्लेबाजी पर दबाव बनाने के लिए चार तेज गेंदबाजों को उतारा था। लेकिन यह पैंतरा मेजबान टीम के लिए महंगा साबित हुआ था। 

इस साल एकबार फिर ऑस्ट्रेलियाई खेमा कुछ ऐसे प्लान बना रहा है। पर्थ टेस्ट से पहले शॉन टेट ने अपनी टीम को सलाह दी है कि वो 2008 की गलती ना दोहराएं।

टेट ने कहा, "वो मैच मुझ पर एक शारीरिक और इमोशनल अत्याचार जैसा था। उसके बाद से मेरी क्रिकट खेलने की इच्छा ही खत्म हो गई।"

टेट का वह अंतिम टेस्ट मुकाबला था। उसके बाद टेट ने टेस्ट से संन्यास की घोषणा कर दी।

चार दिन में जीत गई थी टीम इंडिया

2008 में 16 जनवरी से पर्थ में खेले गए तीसरे टेस्ट में भारत ने मैच 72 रन से जीता था। तब मैच चार दिन में ही खत्म हो गया था। उस टीम के छह सदस्य वीरेंद्र सहवाग, राहुल द्रविड़, सचिन तेंडुलकर, वीवीएस लक्ष्मण, महेंद्र सिंह धोनी और इशांत शर्मा मौजूदा टीम में शामिल हैं।

द्रविड़ शतक चूके 

भारत ने तब टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और 98.2 ओवर में 330 रन बनाए। द्रविड़ ने 93, सचिन ने 71, सहवाग ने 29, लक्ष्मण ने 27 और पठान ने 28 रन का योगदान दिया था।

आरपी सिंह ने झटके चार विकेट

भारतीय गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के सामने ऑस्ट्रेलियाई पारी 50 ओवर में ही 212 रन पर ढेर हो गई। आरपी सिंह ने 68 रन पर चार विकेट, इरफान पठान ने 63 रन पर दो विकेट, ईशांत ने 34 रन पर दो विकेट और कुंबले ने 42 रन पर दो विकेट झटके। भारत ने दूसरी पारी में लक्ष्मण के क्लासिक 79 रन की बदौलत 80.4 ओवर में 294 रन बनाए। सहवाग ने 43, इरफान ने 46, धोनी ने 38 और आरपी सिंह ने 30 रन का योगदान दिया।

इरफान पठान बने मैन ऑफ द मैच

ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए 413 रन का लक्ष्य मिला लेकिन उसकी टीम 86.5 ओवर में 349 रन बना सकी। माइकल क्लार्क ने 81, मिशेल जॉनसन ने नाबाद 50, पोंटिंग ने 45 और माइक हसी ने 46 रन बनाए। इरफान पठान ने तीन विकेट, आरपी सिंह ने दो विकेट, अनिल कुंबले ने दो विकेट, वीरेंद्र सहवाग ने दो विकेट और ईशांत शर्मा ने एक विकेट लिया। ईशांत ने दोनों पारियों में ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पोंटिंग का विकेट लिया।

Kindly Bookmark and Share it:

Wednesday | 2 comments | Labels:

2 comments:

.
  1. Anonymous
    22:38

    nice post

  1. अनिल गुप्ता
    22:39

    thanks

Confused? आप की राय का स्वागत है.